Monday, November 2, 2009

राम रमी ...



Orkut की दुनिया के राजस्थानी जगत में पतासी काकी का नाम परिचय का मोहताज नहीं है ..
काकी के प्रशंसको ने इस बूढी काकी को हमेशा अपने अनगिनत mails, messages, scraps & pic comments की बदौलत ही इतना जुझारू और जवान बनाये रखा है की वो आज भी इस लाठी पकड़ने की उमर में समाज की बुराइयां मिटाने और राजस्थान की कला एवं संस्कृति को उभारने के लिए सबसे आगे खड़ी है !
काकी को अगर आपसे कुछ चाहिए तो वो है राजस्थान की माटी और बुजुर्गों के लिए कुछ प्यार !
हो सके तो आपकी बहुत ज्यादा बिजी जिंदगी से कुछ पल अपने खुद के लिए भी निकालिए !

Plz give 10 seconds to share this site to your friends
 खुद का orkut भायलां न हेल्लो मारो.. Promote on orkut



Google Internet Bus




 Here is Our Inspiration for domain Name of this website :

check it :
देखिये काकी की पहली प्रोफाइल - CLicK HeRe


देखिये काकी की दूसरी प्रोफाइल - CLicK HeRe

अजी राम राम साय !

राजस्थानी की सबसे फेमस काकी, पतासी काकी ने ये सोचा है की  एक ऐसी वेबसाइट बनायीं जाए जिसमे राजस्थान की परम्पराओ, संस्कृति, खेल, गीत-संगीत, हास्य आदि का वो रूप दिखाया जाएगा जो छुपा हुआ है या फिर इस ज़माने की आधुनिकता में कहीं खो गया है !

इस समय नेट पर पता नहीं कितनी हजारों Social networking, Blogging, News etc. की sites हैं जहाँ पर करोड़ों लोग एक दुसरे से जुड़े हुए हैं और बहुत सा समय वे इन्हें देते हैं ...पर अधिकांश को क्या मिलता है ??
जवाब है - मानसिक तनाव !

इस भागदौड़ की ज़िन्दगी से कुछ पल खुद के लिए भी निकालिए !
किसी ने कहा है की "if u want to live long than live slowly."

असली शांति और प्रफ्फुलित मन का अहसास तो गांव की हवा में ही होता है ...
कोई कहता है यहाँ स्वर्ग है, कोई कहता है वहां, कोई इसे कश्मीर में बताता है पर अगर सच में कहीं ये है तो इसका अहसास उस व्यक्ति को है जो भरपेट दही रोटी, छाछ-राबड़ी आदि खाकर नीम या जांटी के तले खाट घालकर दोपहरी में तान के सोता है !



...........................................................................................

राजस्थान वो प्रदेश है जहाँ की माटी से निकले व्यापारियों ने देश-विदेश में 'मारवाड़ी' के नाम से ख्याति अर्जित की है और भारत की अर्थव्यवस्था और व्यापार जगत में इनका बोलबाला है !
भारत देश के लिए सेना में सबसे ज्यादा जवान देने वाली भूमि भी ये ही है, यहाँ के सपूतों ने हमेशा हर परिस्थिति में देश के लिए लड़ाइयाँ लड़ी हैं और जान भी न्योछावर की हैं !
राजस्थान का इतिहास ही वीरों की भूमि वाला रहा है !
यहाँ के लोग पुरे विश्व में फैले हुए हैं जो हमेशा से भाईचारे और सौहार्द की भावना से हर देश एवं समुदाय में जाने जाते हैं !
गल्फ देशों में रोजगार के लिए गए राजस्थानियों की संख्या भी अनगिनत है !
पूरी दुनिया में फैले ये राजस्थानी लोग हमेशा अपनी संस्कृति, ढाणी-गांव, घर-बार, को यादों में संजोये रहते हैं !
और जब वो यहाँ लौटते हैं तो वतन की माटी की खुशबु के पहले झोंके के साथ ही उस अकेलेपन में बिताये पिछले पूरे वक़्त को भूल जाते हैं !
फिर शुरू होता है अपनी ढाणी-गांव में घर-घर जाकर बड़े-बुजुर्गों से मिलने का दौर ....
दोनों तरफ उत्सुकता होती है पिछले वक़्त में हुई घटनाओ को जानने की ...
काकी ताइयां पूछती हैं "भाया आजकाल कठे सी है तेरी डूटी (duty)", "कतरा दिन की छुट्टी आये हैं " आदि !
 तो ये भाया भी पीछे की किसी की शादी होने की खबर से लेकर भैंस के ब्याने तक की पूरी रपट लेता है ....
फौजियों से तो पुराने रिटायर हो चुके फौजी घंटो चर्चा करते हैं की हम भी उस सन्न (वर्ष) में वहां पोस्टेड थे और तब ऐसा ऐसा हुआ था ..
ऐसे में पूरा दिन और पूरी छुट्टियाँ कब कट जाती हैं बेरा ही नहीं चलता ....
आजकाल तो ज्यादातर युवा भी पढ़ाई और नौकरी के चक्कर में बाहर रहते हैं ...
अगर आप आज कहीं दूर घर से अकेले घर की यादों में हैं तो ये दहीरोटी का गुवाड़ है आपके साथ .... राम राम सा !


यहाँ Explore किया जायेगा राजस्थान के उन कर्मठ कलाकारों, प्रतिभाशालियों को जो लम्बे समय से कई राजस्थानी कला, संस्कृति, खेल, संगीत, लेखन आदि कार्यों से 32;ुड़े हुए हैं पर आम जनता के बीच ज्यादा पहचाने नहीं जाते हैं ..


हमारा मुख्य उद्देश्य सामाजिक कुरीतियों को मिटाने के लिए जनचेतना फैलाना और साथ ही सरकारी योजनाओ, जनसमूह कार्यक्रमों, सामाजिक दायित्वों के प्रति लोगो को सचेत करना है !

* पर एक छोटा संगठन जिसमे मात्र 15 लोग हैं उनके लिए इतने बड़े स्तर पर ये सब करना थोडा सा मुश्किल है
तो जरुरत है राजस्थान की माटी के लिए एकजुट होने की !
आपका थोडा सा सहयोग एक बहुत बड़ी क्रांति ला सकता है ....

कुछ दिनों पहले पहले तक ये महज एक ऑरकुट प्रोफाइल थी ..
पर अब ये राजस्थान की पहचान बन चुकी है ..

Few Datas : 

Original Profile : 
date of creation - 4 September 2008
no. of friends - 1000
Profile views: Since Sept '08: 28,193, Last week: 562, Yesterday: 114 (as on 19/12/09)

Profile 2 :
due to friends no. limit by google we created profile 2 ...
date of creation - 1 august 2009
no. of friends - 348
Profile views: Since Aug '09: 4,826, Last week: 648, Yesterday: 112 (as on 4/12/09)


खास खास बातां-चीतां - 

म्हाने घणा लोगां रा सुझाव मिल ऱ्या है खासकर बे लोग सबसूं ज्यादा खुश है जका राजस्थान सुं या फेर भारत सुं बाहर हैं !
एक साहब तो इयाँ बोल्या की "यो देख अर म्हाने तो रामजी सो ही मिल्गो" ...

थारो यो सागो ही म्हारा गोडां म ज्यान घाल रे है...
या चौपाल अत्री जोरकी बनबा ळी है की पूछो ही मत  .... बस सागा जी जरुरत है !





एक अजीब बात - जब भी हम राजस्थान के बारे में कोई लेख पढ़ते हैं तो केवल एक बात पर जोर दिया जाता है की यहाँ रेगिस्तान है और कुछ हवेलियाँ, पुराने महल आदि हैं !
जबकि आप और हम अच्छी तरह जानते हैं की वो तो यहाँ हैं ही उनके अला 57;ा हजारों ऐसी चीजें हैं जो दुनिया की नजरो से छिपी हुई हैं ....
हम खुद प्रकृति के उन सुन्दर निर्माणों को अनदेखा करते हैं ....
देखिये ये तस्वीर और महसूस कीजिये इसकी निर्मलता को -





Progress Report : 
थाने अठे हर बार क्यूँ न क्यूँ नयो जरूर मिलसी .. सो रोजीनगा पधारो सा !
अभी हम लोगो के सुझावों पर पूरा ध्यान दे रहे हैं और साथ ही उन लोगो से मिलने का प्रयास कर रहे हैं जो इस दिशा में आपणी मदद कर सकते हैं..
Guest Advisers Group के लिए साथियों को इकट्ठा कर रहे हैं ताकि इस गुवाड़ को बेहतरीन बनाया जा सके ..
यदि आपके कोई साथी जो इस से जुड़ना चाहते हैं पर उन्हें अभी तक पता नहीं है की ऐसा कुछ चल रहा है तो कृपया आप उन्हें हेल्ला मार कर यहाँ बुलाएँ .
हम चाहते हैं की 31 January तक Guest Advisers Group का गठन हो जाए और फिर February Month में हम सब लोग साझा प्रयास करके 1 March 2010 को यहाँ पर राम रमी चालु कर दें ...
हम हर 3-4 दिन से इस पेज को अपडेट करते रहेंगे और आपसे सलाह-मशवीरा लेते रहेंगे ...
सो आप इस पर लगातार नजर मारते रहें ...

....................................................................................

इसकी भारी लोकप्रियता और राजस्थान की मिटटी के सपूतों और प्रशंसको ने हमेशा हमें उत्साहित किया है ...
सो अब एक Guest Advisers Group बनाया गया है जिसमे हमने को  लोगो को तो जोड़ लिया है जो हमेशा से नेट पर राजस्थानी Activities से जुड़े हुए हैं .
अगर आप भी इस ग्रुप से जुड़ना चाहते हैं तो कृपया हमें अपना नाम पता एवं contact details के साथ मेल करें .
साथ म ये बताना न भूले की आप किस व्यवसाय से जुड़े हैं और इस चौपाल में किस प्रकार से मदद कर सकते हैं !
EMail address नीचे दिया हुआ है !

अब इस चौपाल को चरम पर पहुंचाने के लिए जरुरत है कुछ लोगो की जैसे की :

- राजस्थानी के जानकार

- जिनके पास देशी राजस्थानी मटेरिअल पड़ा हो पर उनके पास कोई प्लेटफ़ॉर्म नहीं है
  और वो बाकी लोगो के साथ शेयर करना चाहते हैं .
 (आपके द्वारा भेजा गया कोई भी फोटो, ऑडियो, विडियो, पेज आदि आपके नाम पते के साथ प्रकाशित कर दिया जाएगा )
    
- राजस्थानी / हिंदी के Content Writers

* और सबसे ज्यादा जरुरत है आपके सुझावों की ताकि इसे बेहतरीन बनाया जाए .


Direct सलाह के लिए : अपने माउस से यहाँ चटका लगायें !



Domain name has already been finalized  ..




ये इस दहीरोटी.कॉम का Demo Version है !
जिसे की आपके अमूल्य सुझावों के आधार पर Update किया जाएगा .

* Entries for Guest Advisers Group are invite. A lot of people have shown interest to work for this social initiative. If you also have a desire to work for this " आपणी कम्युनिटी " then sent an email quickly. 
to Join Guest Advisers Group mail here and be a part of this fabulous choupal :

अपने सुझाव यहाँ दें  -- dahiroti@gmail.com

Guest Advisers Group - 
* Vishnu - Suman Choudhary
* Vasu Sharma
* Somu Sharma
* Jitendra Bagria
* Vishnu Singh Lakhawat
* Tejpal Singh
* Bharat Gour
* Hanuvant Singh
* Siddharth Singh Shekhawat
* Dr. Ashwani Swami 
* Suryapal singh Choudhary
* Vicky Choudhary
* Anshul Choudhary
* Siddarth Shekhawat
* Vijay Mundra
* Miss Sudesh
* Kamal Kr. Sharma
* Rajeev Achara
* Manish Fageria
* C.S. Beniwal
* Mitesh Agarwal
* Raghuveer Choudhary
* Amit Soni
* Nitesh Choudhary
* Himanshu Gaur
* Rohit Mundra
*Ashish Agrawal
* Sanjay Joshi

* U can be the one (just send a mail)


____
the complete profile of these editors will be publish soon..


Importance of this Guest Advisers Group :
इस ग्रुप से जुड़े हुए सभी साथी फरवरी माह में पतासी काकी की चौधर में आपसी तालमेल बनाते हुए इस चौपाल की नींव रखेंगे !
ये चौपाल आपणी सबकी है ... सो जो भी साथी इसमें जुड़ना चाहते हैं जल्दी से पधारे !
फरवरी के पहले सप्ताह में Advisers Group के सभी लोगों को सामूहिक mail & contact किये जायेंगे ताकि फिर इस माह के अंत तक पूरे contents इकट्टा करके उन्हें नियोजित तरीके से जë0;ाकर, आपस में अंतिम निर्णय लेकर मार्च में रंगीले राजस्थान के रंगों से भरे त्योंहार होली के शुभ अवसर पर इस देसी रंग से रंगी राजस्थानी साईट का शुभारम्भ किया जा सके !!

जो साथी ग्रुप से न जुड़कर सीधे ही सलाह देना चाहते हैं या कोई अन्य विचार रखना चाहते हैं तो हमारे Direct सलाह लिंक का उपयोग करें ..
हम आपके इन सुझावों के घणे घणे आभारी रहेंगे !
आपके इन्ही सुझावों से हमें पता चलेगा की हम कैसा कर रहे हैं और हम सबको क्या नया करना चाहिए !



धन्यवाद .
राम राम सा !


                                            राम राम साय !!


                                        -   पतासी काकी

55 comments:

  1. kaki bhudhap me a bhayala kam ka koni hi......... gav m chokho koni laga

    ReplyDelete
  2. kaki g jariy thy sara milgy bhot aacho kam kiyo h

    is wasty meri or su thany ;;;;salute;;;;;;

    ReplyDelete
  3. kaki bahut chokhi chij banaye h

    ReplyDelete
  4. great dear.....keep it up.

    main b thare lare lare aau hu thane saro laga ne

    ReplyDelete
  5. ji bahut hi badhiya hai yah aapka conspt ....or majedar sabit hoga ...prayas ke liye dhyanyavaad.hum aapse jarur judenge

    ReplyDelete
  6. http://www.consumingexperience.com/2005/07/blogger-how-to-edit-comments.html

    ReplyDelete
  7. very very Good start !!
    Keep it buddies !

    ReplyDelete
  8. its to chilling that one kaki has done so much fr we rajasthani i like her style to much un the age 80-90 she has made her profile on orkut as well sight .....fr all the related links to rajasthani brekfast ,dinner,and all the qualities which is there in rajathane peoples at last i would like to say patasa kaki i m really fan of u ....?yours true lover ....from the soil of sikar district ...............jai sikar jai rajathan

    ReplyDelete
  9. kaki jee?? the work u have done is really a prudable work becoz u have open the eyes of rajasthane that we people r nt back in anythink nor in education nar in any field so at last i would like to say kaki relly u have done great work from the rajasthan public i would like to say thanks and would help u fimacial as well as in any matter u like bye

    ReplyDelete
  10. Ashish Murolia(Chirawa)December 21, 2009 at 9:56 PM

    hello KakiJi! Itzz a big initiative..m a die heart follower of Rajathani traditions nd cultural..I thanks to u on behalf of all my family nd relatives for kinda efforts ...go ahead! We'll be thr .. BEST WISHES ... :)

    ReplyDelete
  11. such a grt way to introduce our rajasthani culture. vry well done nd best wishes for u. keep it continue.......... we all r wid u.

    ReplyDelete
  12. Dear Friends,

    First of all i should congratulate and thanks to u all that u have taken a very good step to start such type of things where we will come to know about our Rajasthan and its culture. secondly i should suggest u that :- isko majhdhar me mat chhod dena. best of luck. sometime i may give my small contribution in this regard. thanks and all the best Gangadhar singh Congo

    ReplyDelete
  13. great bahaya o to bahot hi chokho kaam kariyo hai ...

    ReplyDelete
  14. काकी आपरला गुवाड़ माय रोलो माचगो...
    लोग कह रया ही की पतासी तो जोरकी निसरी...
    ईयाही लागी रह जे तेरा भतीजा तेर ही साग ही....

    ReplyDelete
  15. Hello kakiji, main to apki profile dekh kar itna kush hua ki bas pucho mat.kaki main saudi arabia me job kar raha hau . aur apna culture dekha to mujhe apna village yad ane laga.i will give my contribution.

    best of luck.

    amod kumar

    ReplyDelete
  16. patasi kaki tharo koi jawab koni mane bhi thari toli may bhela kar levo kakisa

    ReplyDelete
  17. this is very nice profile becose when some one live out of india then just visit in this profile so fell like visit to rajasthan i love this profile

    ReplyDelete
  18. are kaki..........koi kaam hove to bata dae chai web site development ho ya fer koi site pe lagan ko samaan.
    koi e-mail addresss bata dyo to bthe hi bhej du photo or kuch deshi samaan.........!

    ReplyDelete
  19. Ram Ram kakiji hamne apki mail dahiroti@gmail.com par ek important mail bheja hai plz check it. payein lagun

    ReplyDelete
  20. Chokhi website banai hai jana. ene aur suthri banai padsi.

    ReplyDelete
  21. RAM RAM KAKI PAALO GHANNO PADE HAI
    PAALO MAIN TO THA SUN GHANIBAT NA HO VE . YO BATA RO JUGAD AACHO HAI

    ReplyDelete
  22. kaki ji mare layk koi seva ho jrur bolna,ok kaki

    ReplyDelete
  23. भाया ओ बोहत ही चोखो काम है !! राजस्थान की संस्कृति बच जासी जब बहुत सारा लोग थारा जियानको काम करसी जना !! थारो नाम होसी !! जनता कुछ सिख सी !!!! और १ और बात थे इया रूपया भी कमासो इलिया लाग्या रहो !!

    ReplyDelete
  24. oo kam to the bhaut accho kar rahiya ho kakki jo aapna loga na mati su jod rahiya ho...main bhot khus hu ki thri jaisi bhi koi hai is duniya main.

    ReplyDelete
  25. its very nice website....contents r very nice but all r in unorganised manner ..website should be design by some expert designer..its seems like someone trying first time in life for website design.....so plz take help of some good designer ..othewise contents r excellent i ever seen.....

    ReplyDelete
  26. ram ram ji...
    Tha loga ko bahut bahut dhanyawad...

    @ no... Yes sir u r right its really unorganised web...bt i m working on it...
    probably we vl release its oficially demo verson on 14 feb.
    And in march vl surely launch the full site...
    bt still we need ur advices..
    On behalf -
    patasi devi !

    ReplyDelete
  27. kaki ram ram bhot hi chokho kaam kare hai the bas imme thori career counselling ke bara main ek interactive link dalana wahan koi bhi apani query likh de aur usame hum sab jisako pata ho wo guide kare mujhe pura wiswas hai kafi ganmanye log hain jo ye kaam bakhubi kar sakate hain
    isase gaon ke sathiyon ka fayada hoga aur wo kuchh naye courses or job ki taraf jayenge
    thanx & regards

    raj

    ReplyDelete
  28. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  29. Thaane bohot bohot badhai ei nai shuruaat ki jeevdo raaji ho jya hai thane dekh k

    Kaki from my point of view you should make three versons of this site or atleast two versons one is usual hindi and maarvadi mix and other should be in english. I m saying this because when we try to share this with our friends in south india or abroad they take huge interest in this but they will not understand anything. so an english verson of the same will be very helpful for them to explore us and for us to explain or to make them understand our culture and society.

    ReplyDelete
  30. kaki ji ramram aa webside to chokhi lagsi

    ReplyDelete
  31. ram ram sa bhai logo, agar inh site par rajasthani theth gana sunan ne mil je thath aa je,

    ReplyDelete
  32. ram ram ji...
    Bilkul ji rajasthani gana b sunasyan...thanx !

    ReplyDelete
  33. ram ram kakisa veryyyy good n nice bahut accha paryas kar rahe hi aap jitna kahu utna hi km h i impress u dahi roti website bahut bahut bahut acchi h i like so much ilove raj.cultur n language keep it up god bless you kakisa jia shree karishna..........

    ReplyDelete
  34. bahut bahut accha h keep it up kakisa jai shree karishna

    ReplyDelete
  35. ram-ram kaki sa, maan thari site boli badiya laagi, ima the rajashtan ki jankari di boli sari khushi hoyi,

    ReplyDelete
  36. kaki choki profile banai .
    majo aa gayo

    ReplyDelete
  37. he it is good, but how can we upload sons video and other material,

    please reply

    ReplyDelete
  38. raam raam

    yo to bahut hi badhia kaam hai, chalu karo le ke raam ko naam

    ReplyDelete
  39. @ yogi...
    we will provide a link for uploading the material...

    ReplyDelete
  40. kakisa thanko rajasthan ke liye yo anotho yogdaan hai jiko sona ka aksaran me likhyo jaylo.

    ReplyDelete
  41. Can I Know Hw U all Team got .com Domain..

    ReplyDelete
  42. n use a marwadi song in site wid aotoplay..as i think.Gd impress on visitor..

    ReplyDelete
  43. ji main jyada kyun to janu koni par main dyan diyo h ki aapa sirf 4 ya 5 jila ka log he ure han baki bachoda jila ka loga kan apno yo nuyto pucho koni to jo jo ure h b sara jan apka baki bhyla n aebr aebr e site k bare m jrur btao taki bh b aapne sage jud ske....................

    ReplyDelete
  44. असली शांति और प्रफ्फुलित मन का अहसास तो गांव की हवा में ही होता है ...
    कोई कहता है यहाँ स्वर्ग है, कोई कहता है वहां, कोई इसे कश्मीर में बताता है पर अगर सच में कहीं ये है तो इसका अहसास उस व्यक्ति को है जो भरपेट दही रोटी, छाछ-राबड़ी आदि खाकर नीम या जांटी के तले खाट घालकर दोपहरी में तान के सोता है !

    ReplyDelete
  45. jai ram ji kaki
    gaav me nokari ki jisko bhi jarurat ho to gaav ke kam me to uuus bande ka hamare guvar me intjar karta hah...

    majduri ki list Batate hah...
    Chejara------550/-
    labour-------300/-
    Sita torbaka--300/-
    Karbi katbaka--300/-
    Pull Bandhabaka--2/- par nag
    guwar ki lawanika--300/-

    Or bhut saare kaam hah as: Kuldi gerbaka,Deri bakhebaka,Kuti bharbaka,Phush Uthabaka,Maay Dhakabaka,Bijar karbaka,Ninana ka, Lawani ka,
    Eak baar sewa moka le .aAPNA GUWAR ME sAMPARAK ME MO..9950759999

    ReplyDelete